Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
WINNING ENTRIES

बिशाखा मोईत्रा प्रजापति (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | प्रशंसा पत्र)

हवाएँ ज़हरीली हैं बेक़ाबू है हर साँस काँक्रीट के घने जंगलों ने कर दिया हरियाली का नाश पेड़ हारे आदमी से आदमी जीवन से हारा

Read More »
WINNING ENTRIES

कल्पना शर्मा (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | प्रशंसा पत्र)

प्रकृति के दानव मत काटो मुझे मैं हूँ जिन्दगी तुम्हारी जो दोगे जीवन मुझे ,बनूंगी जीवनदान तुम्हारी हाँ मैं हरयाली हूँ करती तुम सबकी रखवाली

Read More »
WINNING ENTRIES

मुस्तफ़ा साबूवाला (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | प्रशंसा पत्र)

मेहकी हुई फिज़ाएं हुवा करती थी , चिड़िया भी दिल से केहकहा करती थी, बारिश भी झूम के बरसा करती थी, सागर से भी मौजे

Read More »
WINNING ENTRIES

रीता बधवार (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | सहभागिता प्रमाण पत्र)

आओ मिलकर पेड़ लगायें धरती को हम हरा-भरा बनायें चारों ओर जब छायेगी हरियाली झूम उठेगी तब डाली-डाली पशु-पक्षी और इंसान सभी मिल-जुल कर रहेंगे

Read More »
WINNING ENTRIES

डॉ शैलबाला दाश (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | सहभागिता प्रमाण पत्र)

कहां है वह खिलतीं हरियाली, चहकते चिड़ियां,महकती कली! कहां है वह वादियां निराली! जहां हम सबके बचपन पलीं। पिते थे नदियों के अमृत सदियों से।

Read More »
WINNING ENTRIES

शैलेंद्र (UBI पर्यावरण दिवस प्रतियोगिता | सम्मान पत्र (विधा – कविता ) )

देखो,पर्यावरण की राह आकर्षित कर रही है, अपने आगोश में ले प्रफुल्लित कर रही है, सूरज की किरणों को रोशनी दे रही है, प्रयासों से

Read More »
×

Hello!

Click on our representatives below to chat on WhatsApp or send us an email to ubi.unitedbyink@gmail.com

× How can I help you?