Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content

आभा (UBI सपनों की उड़ान प्रतियोगिता | प्रशंसा पत्र )

काश कि लग जायें मुझे भी पंख,
और सब से अलग दिखने लगूँ !!
कुछ ऐसे सुंदर काम करूँ कि,
जग में अपना नाम करूँ !
ऊँचा उड़ूँ आकाश में ,
और बस सब से ऊँचा उठूँ !!

ला सकूँ सब के चेहरे पर ख़ुशी,
ऐसा क़ाबिल ख़ुद को बना सकूँ !
सब मुझे प्यार करें और ,
मैं सबका दिल अपने नाम करूँ !!
बस इतनी ही ख़्वाहिश और
सपनों की उड़ान है मेरी ..
काश इसे मैं पूरा कर सकूँ !!

 

0

2 Comments on “आभा (UBI सपनों की उड़ान प्रतियोगिता | प्रशंसा पत्र )

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

×

Hello!

Click on our representatives below to chat on WhatsApp or send us an email to ubi.unitedbyink@gmail.com

× How can I help you?